परमाणु क्या है? | परमाणु की परिभाषा और उदाहरण

परमाणु क्या है-

परमाणु की परिभाषा-

परमाणु किसी भी तत्व के सूक्ष्मतम ( यानी सबसे छोटे ) कण जिनसे अणु बनते हैं, तथा जो रासायनिक अभिक्रियाओं (chemical reactions) में बिना अपघटित हुए भाग लेते हैं, उन्हें परमाणु ( Atom ) कहा जाता हैं। ‘परमाणु‘ ( Atom ) का मतलब होता है, ‘की वह कण जिसे छोटे कणों में न विभाजित किया जा सके’।

लेकिन आधुनिक वैज्ञानिक प्रयोगों से पता चलता है कि परमाणु ( Atom ) विभिन्न अपरमाणविक कणों से मिलकर बना होता है। इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन और न्यूट्रॉन जो की किसी एक परमाणु ( Atom ) के संघटक कण है; सभी तीन फर्मिऑन हैं। हालांकि, हाइड्रोजन-1 के परमाणुओं में कोई न्यूट्रॉन नहीं है। एक परमाणु एक तत्व का सबसे छोटा घटक है और सभी पदार्थों का निर्माण खंड है, जो तत्व के रासायनिक गुणों और न्यूट्रॉन, प्रोटॉन और इलेक्ट्रॉनों के साथ एक नाभिक को साझा करने की विशेषता है।

कोई भी परमाणु ( Atom ) रासायनिक रूप से अभाज्य होते हैं । लेकिन परमाणुओं को असाधारण भौतिक विधियों द्वारा उनके घटक कणों में विभाजित किया जा सकता है । परमाणुओं का आकार (size) अति सूक्ष्म और भार (atomic weight) बहुत ही कम होता है।

परमाणु तीन कणो से मिल कर बनते है

  1. इलेक्ट्रान
  2. प्रोटोन
  3. न्यूट्रॉन

उदाहरण

कई सारे परमाणुओं में एक धनात्मक आवेशित वाला नाभिक होता है जिसमें प्रोटॉन और न्यूट्रॉन पाए जाते हैं ओर जो नकारात्मक रूप से आवेशित ओर इलेक्ट्रॉनों के एक बादल से घिरे हुवे होते हैं। परमाणु अपने सबसे बुनियादी स्तर पर पदार्थ का कोई भी कण होता है जिसमें सबसे कम एक प्रोटॉन पाया जाता है। यहाँ परमाणुओं के कुछ उदाहरण दिए गए हैं: हाइड्रोजन (H) और नियॉन (Ne)।

इलेक्ट्रॉन की परिभाषा-

इलेक्ट्रॉन एक उप-परमाणु कण है, जिसका विद्युत आवेश ऋणात्मक एक प्राथमिक आवेश है। इलेक्ट्रॉन लिप्टन कण परिवार की पहली पीढ़ी के हैं, और आमतौर पर प्राथमिक कण माने जाते हैं क्योंकि उनके पास कोई ज्ञात घटक या अवरोध नहीं है।

न्यूट्रॉन की परिभाषा-

न्यूट्रॉन एक आवेश रहित मूलभूत कण है, जो परमाणु के नाभिक में प्रोटॉन के साथ पाये जाते हैं। जेम्स चेडविक ने सन 1931 में इसकी खोज की थी। इसे n प्रतीक चिन्ह द्वारा दर्शाया जाता है।

परमाणु क्या है-
परमाणु क्या है-

प्रोटॉन की परिभाषा-

यह परमाणु का एक अनिवार्य कण है, इस पर इकाई धनावेश होता है। इसका द्रव्यमान हाइड्रोजन परमाणु के द्रव्यमान के लगभग बराबर होता है।

परमाणविक तत्व

परमाणु का निर्माण परमाणविक तत्वों से मिलकर होता है जिनके नाम हैं – प्रोटान, न्यूट्रान तथा इलेक्ट्रान | प्रोटान व न्यूट्रान परमाणु के नाभिक में पाए जाते हैं और इलेक्ट्रान इस नाभिक के चारों ओर चक्कर लगाता है। इलेक्ट्रान परमाणु के नाभिक के चारों ओर बहुत तेज गति से चक्कर लगता है |

विभिन्न तत्वों को उनमें पाई जाने वाली प्रोटान  व इलेक्ट्रान की संख्या के आधार पर अलग किया जाता है, जैसे-सोने (Gold) के परमाणु नाभिक में प्रोटानों की संख्या 79 होती है और कार्बन के परमाणु नाभिक में केवल 6 प्रोटान होते हैं।

परमाणु क्रमांक व द्रव्यमान

संख्या किसी तत्व के परमाणु के नाभिक में उपस्थित प्रोटानों की संख्या को परमाणु क्रमांक कहते हैं। किसी परमाणु के नाभिक में उपस्थित प्रोटानों और न्यूट्रानों की कुल संख्या को द्रव्यमान संख्या कहते हैं।

समस्थानिक

समान परमाणु क्रमांक परन्तु भिन्न परमाणु द्रव्यमानों के परमाणुओं को समस्थानिक (Isotopes) कहते हैं। समस्थानिकों में   प्रोटानों की संख्या समान होती है लेकिन न्यूट्रानों की संख्या भिन्न होती है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *