मिश्रण किसे कहते हैं समांगी और विषमांगी मिश्रण में अंतर स्पष्ट कीजिए-

मिश्रण किसे कहते हैं समांगी और विषमांगी मिश्रण में अंतर स्पष्ट कीजिए

1-मिश्रण तथा अशुद्ध पदार्थ(बिषंमाग द्रव्य)

दो या दो से अधिक तत्वों और योगी को किसी भी अनुपात में मिलाने पर जो अशुद्ध हो और विषमांग द्रव्य प्राप्त होता है वह मिश्रण या अशुद्ध पदार्थ कहलाता है।

मिश्रण के बनने में अवयवी तत्व अथवा योगिक परस्पर रासायनिक संयोग नहीं करते हैं जिससे इनमें अवयवी पदार्थों के गुणधर्म सदैव विद्यमान रहते हैं और मिश्रण से उन्हें सरल यांत्रिक वीधियो द्वारा पृथक किया जा सकता है उदाहरण स्वरूप मिश्रण के कुछ उदाहरण निम्मवत है।

1-ठोसों का मिश्रण-सीमेंट, बारूद, पीतल, आदि।

2-ठोस द्रव्य मिश्रण-चीनी का बिलियन, नमक का बिलियन, दूध, समुद्र का जल, फलों का रस आदि।

3-द्रव गैस का मिश्रण-सोडा वाटर

4-गैस गैस मिश्रण-कोल गैस, प्रोड्यूसर गैस, लेमोनेेेेड आदि।

5-ठोस गैस मिश्रण-धुआं(कार्बन के कारण+वायु)

6-वायु-ऑक्सीजन, नाइट्रोजन, कार्बन डाइऑकइड, जलवाष्प, आर्गन इत्यादि का मिश्रण।

7-इस्पात-लोहा, कार्बन तथाा अल्प मात्रा मेंं मैग्नीशियम क्रोमी नियम आदि का मिश्रण।

2-मिश्रण के प्रकार-

सामान्यतः मिश्रण निम्नलिखित दो प्रकार के होते हैं।

1-समांगी मिश्राण-

1-समांगी मिश्रण-जिस मिश्रण के प्रत्येक भाग के सभी गुण एक समान होते हैं उसे समांगी मिश्रण कहते हैं संपूर्ण समांग मिश्रण का संगठन या संरचना एक जैसी होती है इसमें उपस्थित विभिन्न अवयवों की सीमाओं को पृथक रूप से देखा नहीं जा सकता है उदाहरण शक्कर का जल में मिश्रण एक समांगी मिश्रण है क्योंकि इसमें सभी भागों में शक्कर जल का संगठन एक समान होता है तथा एक जैसा मीठा होता है इसमें जल और शक्कर की पृथक पृथक सीमा नहीं दिखाई देती है दो या दो से अधिक मिश्रणीय द्रवों का मिश्रण भी समांगी होता है जैसे एल्कोहल तथा जल का मिश्रण समांगी होता है इसी पर वायु भी ऑक्सीजन नाइट्रोजन कार्बन डाइऑक्साइड जलवाष्प तथा आर्गन इत्यादि का समांगी मिश्रण होती है

मिश्रण किसे कहते हैं समांगी और विषमांगी मिश्रण में अंतर स्पष्ट कीजिए
मिश्रण किसे कहते हैं समांगी और विषमांगी मिश्रण में अंतर स्पष्ट कीजिए

2-विषमांगी मिश्रण-

जिस मिश्रण के प्रत्येक भाग के गुण एक समान नहीं होते उसे विषमांगी मिश्रण कहते हैं इसकी रचना एक जैसी नहीं होती है इसके विभिन्न अवयवों के बीच पृथक्करण सीमा स्पष्ट दिखाई देती है उदाहरणा चीनी और नमक तथा दाल के दानो और गंदगी के कोणों के मिश्रण विषमांगी मिश्रण है इसी प्रकार रे तथा जल का मिश्रण रेत तथा लोहे का मिश्रण आदि भी विषमांगी मिश्रण है। पेट्रोल तथा जल का मिश्रण भी एक विषमांगी मिश्रण है अधिकांश मिश्रण विषमांगी होते हैं केवल बिलियन और मिश्र धातु समांगी मिश्रण है

1-समांगी द्रव्य तथा विषमांगी द्रव्य क्या है-

वे द्रव्य जिनके प्रत्येक भाग का संगठन तथा गुणधर्म समान होते हैं समांगी द्रव्य कहलाते हैं जैसे-लोहा, चांदी, तांबा, वायु, जल, आदि

यह दो प्रकार के होते हैं

1-शुद्ध द्रव्य तथा

2-विलियन

वे द्रव्य जिनके प्रत्येक भाग के संगठन तथा गुणधर्म समान नहीं होते तथा जो दो या दो से अधिक समांगी द्रव्यों को किसी अनुपात में मिलाने से प्राप्त होते हैं विषमांगी द्रव्य कहलाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *