अध्ययन दल क्या है? | परिभाषा | उद्देश्य | लाभ

अध्ययन दल क्या है?

अध्ययन दल स्वीडिश अध्यापकों द्वारा प्रचलित शिक्षकों का एक ऐसा समूह है जो शिक्षकों में व्यावसायिक दक्षता बढ़ाने, सदस्यों में संगठन के प्रति अभिरूचि उत्पन्न करने तथा उन्हें शिक्षित / दीक्षित कर संगठन की गतिविधियों में सक्रिय भागीदारी निश्चित करने की प्रेरणा प्रदान करता है।

व्यय रहित एवं प्रभावोत्पादक इस विद्या को स्वीडिश शिक्षक संगठन के सहयोग से अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा उत्तरांचल राज्य के प्राथमिक शिक्षकों की व्यावसायिक दक्षता में वृद्धि करने तथा शिक्षण में अभिरूचि उत्पन्न करने एवं संगठन को सशक्त और समृद्धिशाली बनाने के उद्देश्य से प्रारम्भ किया जा रहा है।

अध्ययन दल क्या है? | Adhyayan dal kya hai

अध्ययन दल शिक्षकों को शिक्षा एवं संगठन के सभी पहलुओं की जानकारी देने एवं शिक्षकों की व्यावसायिक दक्षता बढ़ाने का सरल एवं सस्ता तरीका है। अध्ययन दल समान कोटि के मित्र शिक्षकों का एक छोटा समूह है।

जो शिक्षा, शिक्षकों की समस्याओं तथा उनके निराकरण के लिए एक दूसरे के अनुभवों एवं जानकारियों के आधार पर एक दूसरे के विचारों एवं धारणाओं के साथ मिलकर विचार विमर्श करते हैं।

और एक निष्कर्ष पर पहुंचते हैं। इस प्रकार अध्ययन दल प्रभावी समाधान एवं त्वरित परिणाम हेतु व्यय रहित एक सरल उपाय है। अध्ययन दल के समूह के लिए अधिकतम संख्या 10 और 12 के मध्य होती है। यह सदस्य एक विद्यालय या आस-पास के गाँव जो 2-3 किलो. मी. की परिधि के अन्तर्गत हों या शिक्षण कार्य करने वाले हों।

वह किसी निश्चित स्थान अथवा किसी विद्यालय में बैठकर कार्य करते हैं। अध्ययन दल के सदस्य एक गोले में बैठते हैं, जिससे महसूस हो कि सभी सदस्य समान स्तर के हैं। कोई छोटा बड़ा नहीं है।

सभी को क्रमशः अपने विचार प्रकट करने का समान अवसर उपलब्ध होगा। अध्ययन दल “सम्मुख विचार विमर्श समूह” है जिसमें सदस्य सुविधा जनक स्थान व समय पर मिलते हैं तथा समान्य रूचियों के साथ विषय वस्तु पर विचार करते हैं।

अध्ययन दल के उद्देश्य | Adhyayan ke uddeshy

  • उत्तरांचल राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के सभी सदस्यों में चेतना जागृत करना, जिससे वह सक्रिय होकर संगठन की गतिविधियों एवं शिक्षण में अपनी निर्णायक भूमिका निभा सके तथा सदस्य एक दूसरे की अभिरूचियों एवं व्यवहार से परिचित होकर एक दूसरे से घनिष्ठता स्थापित कर सके।
  • सदस्यों में व्यावसायिक दक्षता बढ़ाने एवं शिक्षा में गुणात्मक विकास करना।
  • सदस्यों में आत्म विश्वास पैदा करने एवं संगठन के प्रति अभिरूचि उत्पन्न करके अपने विचारों को दूसरे के सामने रखने की सामर्थ्य वृद्धि करना।
  • सदस्यों के ज्ञानवर्धक एवं विचार अभिव्यक्ति का आदर करने हेतु।
  • शिक्षकों की सेवा शर्तों एवं कार्य की दशा में सुधार हेतु।
  • शिक्षकों की कल्याणकारी योजनाओं में सहभागिता हेतु।
  • देश की एकता एवं सामाजिक सुदृढ़ता हेतु।
  • राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय संगठनों में विश्वसनीयता पैदा करने हेतु।

अध्ययन दल के लाभ | adhyayan dal ke Labh

  • सदस्यों को व्यक्तिगत विचार अभिव्यक्ति करने का प्रोत्साहन।
  • सदस्यों को अधिक क्रियाशील बनाता है।
  • अध्ययन दल वास्तविक लोकतंत्र का बोध कराता है। संगठन सदस्यों के हितों की सुरक्षा के लिए कार्य कर रहा है, ऐसा विश्वास पैदा करता है।
  • कम समय में अधिक जानकारी प्राप्त होना।
  • सदस्यों को शिक्षित करने का अत्यन्त सस्ता तरीका।
  • सदस्यों को संगठन, उसके संविधान कार्य कलापों, उनकी सेवा शर्तों, शिक्षकों के अधिकार एवं कर्तव्यों तथा सामाजिक न्याय का बोध होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *