एक कौवे की कहानी | मोटवैशन कहानी | तुलना करने पर कहानी

एक कौवे की कहानी | मोटवैशन कहानी | तुलना करने पर कहानी

नमस्कार दोस्तों, आज आपके लिए मैं एक नई मोटिवेशन के कहानी लेकर आया हूं। यह एक कौवे की कहानी है अगर आप इस कहानी के माध्यम से कुछ सीखना चाहते हैं। तो इसको पूरा जरूर पढ़ें।

एक कौवे की कहानी |

एक जंगल में एक कौवा रहता था। बड़ा ही खुश और मस्ती में रहता। पर एक बार उसे देखा उसे ही सुंदर पक्षी दिखाई दिया। वो उस पक्षी के पास तुरंत ही गया। उस पक्षी का रंग सफेद था।

कौवे ने उस पक्षी से पूछा तुम्हारा नाम क्या है। उसने हस कर कहा हंस। कौवा बड़ा खुश हुआ। और खुश होकर कहा यार तुम तो बड़े सुंदर हो सफेद भी हो तुम्हें तो बड़ा मजा आता होगा जिंदगी जीने में।

एक कौवे की कहानी | मोटवैशन कहानी | तुलना करने पर कहानी
एक कौवे की कहानी | मोटवैशन कहानी | तुलना करने पर कहानी

लेकिन हंस ने कहा नहीं, मुझसे ज्यादा भी कोई और सुंदर है। कौवा हेरान हुआ। ओर कहा कोन है जो तुमसे भी सुंदर है।

हंस से कहा तोता, फॉर कौवा तुरंत उठकर तोते के पास पहुंचा। ओर कौवा उसे देख कर हेरान हो गया। गले मे लाल रंग ओर तोता हरे रंग का था। कौवा ने उससे कहा यार तुम तो बड़े खुश रहते होंगे, तुम जो इतने शानदार दिखते हो।

तोता मायूस हुआ। और कहा की नहीं मुझसे भी शानदार और सुंदर तो मोर है। फिर कौवा वहाँ से उठकर मोर को ढूंढने लगा। कई दिनों तक मोर को ढूंढा, तो मोर उसे नहीं मिला।

लेकिन कुछ दिन बाद उसे पता चला की मोर तो शहर में एक चिड़ियाघर में है। तो कौआ चिड़ियाघर पहुँचा। फिर कौआ ने मोर को देखा। फिर काफी लोग मोर के साथ फोटो क्लिक कर रहे थे।

यह देखकर कोवे को जलन हुई। कौआ मोर के पास गया। ओर बोला की यार तुमहरी तो जिंदगी मे तो मजे ही मजे है। तो मोर ने कहा की किस बात के मजे मैं भले ही दिखने में बहुत ही शानदार और सुंदर हूं।

लेकिन मेरी पूरी जिंदगी इस बंद पिंजरे में ही गुजरने वाली है। मोर ने कौवे से कहा। की यार तुम बड़े किस्मत वाले हो, तुम खुले आसमान में जहां चाहे वहां जा सकते हो।

दोस्तों याद रखना तुम अपनी जिंदगी में कभी किसी से अपनी तुलना मत करना वरना। वरना 1 दिन ऐसा जरूर आएगा। की तुलना करना गलत बात थी। लेकिन तुम्हारे पास वक्त नहीं होगा खुद का कुछ करने का।

उम्मीद करता हूं आपको यह कहानी अच्छी लगी होगी, अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो मुझे कमेन्ट मे जरूर बताइए। मिलते है किसी नई कहानी में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *