जैव और अजैव में क्या अंतर है?

जैव और अजैव में क्या अंतर है?

जैव (bio) –

हमारे पर्यावरण में उपस्थित वैसी सभी वस्तुएँ जिनमें जीवन है, जैव संसाधन कहलाती है। जैव संसाधन हमें जीवमंडल से मिलती हैं।

उदाहरण: मनुष्य सहित सभी प्राणि। इसके अंतर्गत मत्स्य जीव, पशुधन, मनुष्य, पक्षी आदि आते हैं।

अजैव (abiotic) –

हमारे वातावरण में उपस्थित वैसे सभी संसाधन जिनमें जीवन व्याप्त नहीं हैं अर्थात निर्जीव हैं, अजैव संसाधन कहलाते हैं।

उदाहरण- चट्टान, पर्वत, नदी, तालाब, समुद्र, धातुएँ, हवा, सभी गैसें, सूर्य का प्रकाश, आदि।

also read – जैव विविधता क्या है? जैव विविधता के प्रकार।

also read – संसाधन के रूप में लोग-

जैव और अजैव में अंतर-

जैव (bio)-

  • यह एक पारिस्थितिकी तंत्र के जीवित घटकों को संदर्भित करता है, उदा। पौधे, जानवर, पक्षी और अन्य जीव।
  • जैविक घटक अपने अस्तित्व के लिए अजैविक घटकों पर निर्भर करते हैं।
  • वे पर्यावरण में परिवर्तन के अनुकूल होने में सक्षम हैं।
  • कारक एक प्रजाति, जनसंख्या, समुदाय, जीवमंडल और बायोम के व्यक्तियों को प्रभावित करते हैं।
  • संसाधनों में पक्षी, जानवर, जंगल और मछली जैसे समुद्री संसाधन शामिल हैं।

अजैव (abiotic)-

  • यह एक पारिस्थितिकी तंत्र के निर्जीव घटकों को संदर्भित करता है, उदा। हवा, मिट्टी, पानी, धूप।
  • अजैविक घटक अपने अस्तित्व के लिए जैविक घटकों पर निर्भर नहीं होते हैं।
  • पर्यावरण में परिवर्तन के अनुकूल होने में असमर्थ।
  • तीन बुनियादी श्रेणियों में वर्गीकृत: जलवायु, शैक्षिक और सामाजिक।
  • कारक एक प्रजाति, समुदाय, जनसंख्या और जीवमंडल के व्यक्ति को प्रभावित करते हैं।
  • संसाधनों में जल, भूमि, तेल, कोयला आदि शामिल हैं।

Also read – उद्योग पर्यावरण को कैसे नुकसान पहुंचाते हैं?

प्रश्न और उत्तर ( FAQ)-

जैव संसाधन कौन से होते हैं?

हमारे पर्यावरण में उपस्थित वैसी सभी वस्तुएँ जिनमें जीवन है, जैव संसाधन कहलाती है। जैव संसाधन हमें जीवमंडल से मिलती हैं।

जैव और अजैव में क्या अंतर है?

जैव (bio)-
1.यह एक पारिस्थितिकी तंत्र के जीवित घटकों को संदर्भित करता है, उदा। पौधे, जानवर, पक्षी और अन्य जीव।जैविक घटक 2.अपने अस्तित्व के लिए अजैविक घटकों पर निर्भर करते हैं।

अजैव (abiotic)-
1.यह एक पारिस्थितिकी तंत्र के निर्जीव घटकों को संदर्भित करता है, उदा। हवा, मिट्टी, पानी, धूप।
2.अजैविक घटक अपने अस्तित्व के लिए जैविक घटकों पर निर्भर नहीं होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *