उपभोक्ताओं के अधिकार क्या है?

उपभोक्ताओं के अधिकार

उपभोक्ताओं के अधिकार

  1. शोषण के विरुद्ध संरक्षण का अधिकार।
  2. स्वास्थ्य तथा सुरक्षा के संरक्षण का अधिकार।
  3. सूचित किए जाने का अधिकार।
  4. सुनवाई किए जाने का अधिकार।
  5. प्रतिकार किए जाने का अधिकार।
  6. चयन करने का अधिकार।
  7. ऐसी भौतिक वातावरण का अधिकार जो जीवन के गुणों की रक्षा एवं उन में वृद्धि कर सके।

उपभोक्ता अधिकारों का संरक्षण

  1. क्रेता और विक्रेता के मध्य उचित संतुलन बनाए रखा जाए।
  2. उपभोक्ताओं के हितों के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु सभी उपाय किए जाएं।
  3. उपभोक्ताओं के उपयुक्त सभी अधिकारों को सुरक्षित रखा जाए।
  4. उपभोक्ताओं को अविवेकपूर्ण व्यापारियों के शोषण से बचाया जाए।
  5. समय-समय पर सरकार के समक्ष उपभोक्ताओं के हितों को प्रस्तुत करना तथा उन्हें प्रभाव कारी संरक्षण दिलाने के उपाय किए जाएं।
  6. अनुचित व्यापार व्यवहारओं के विरुद्ध उपभोक्ता को संगठित किया जाए‌।
  7. उपभोक्ता प्रशिक्षण,उपभोक्ता सूचना तथा तुलनात्मक परीक्षा कार्यक्रम आयोजित किया जाए।
उपभोक्ताओं के अधिकार
उपभोक्ताओं के अधिकार

यदि उपभोक्ता अपने अधिकारों एवं शक्तियों के प्रति जागरूक हो जाते हैं। तो उत्पादक एवं विक्रेता अनुचित व्यापार व्यवहार को नहीं अपना सकेंगे। उपभोक्ताओं में जागरूकता बढ़ती जा रही है तथा अब समय आ गया है कि कोई भी उपभोक्ताओं को प्रभावहीन एवं निष्क्रिय ना माने।

read more – फसल चक्र से क्या समझते हैं ?

read more – भारत में निर्धनता दूर करने के उपाय?

click here – click

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *