वानस्पतिक उद्यान का क्या महत्व है?

वानस्पतिक उद्यान का क्या महत्व है

हेलो दोस्तों मेरा नाम भूपेंद्र है। और आज क्या आर्टिकल में हम आपको बताएंगे। वनस्पति उद्यान का महत्व आपको हम इस आर्टिकल में बताएंगे। तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगता है तो हमारे और आर्टिकल देखने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर जा सकते हैं।

वानस्पतिक उद्यान

विभिन्न प्रकार के पौधों की जातियां लगाकर उसे सुरक्षित करने हेतु संपूर्ण क्षेत्रफल को चारों ओर से घेर लेते हैं। इन्हीं को वानस्पतिक या पादप उद्यान कहते हैं। वानस्पतिक उद्यानों से निम्नलिखित लाभ है। जिसके कारण वनस्पतिक उद्यानों का बहुत महत्व है।

वानस्पतिक उद्यान का क्या महत्व है
वानस्पतिक उद्यान का क्या महत्व है

वानस्पतिक उद्यानों का महत्व

  1. वर्गीकरण अध्ययन हेतु जीवित जातियों को वानस्पतिक विज्ञान से प्राप्त किया जाता है।
  2. यहां पर विदेशों से भी लाकर नहीं जातियां लगाई जाती हैं। तथा उनका विकास किया जाता है।
  3. अनुसंधान के लिए यहां पर पौधों को लगाकर रखा जाता है।
  4. अनुसंधान द्वारा यहां नई जातियों का विकास किया जाता है।
  5. विलुप्त होने वाली पादप जातियों को यहां संरक्षण प्रदान किया जाता है।

भारत के दो प्रमुख वनस्पति उद्यान निम्न है

1.Royal Botanical garden – Kolkata

2.National Botanical garden – Luckhou

1. वानस्पतिक उद्यान किसे कहते हैं?

विभिन्न प्रकार के पौधों की जातियां लगाकर उसे सुरक्षित करने हेतु संपूर्ण क्षेत्रफल को चारों ओर से घेर लेते हैं। इन्हीं को वानस्पतिक या पादप उद्यान कहते हैं।

read more – ‘एक दलीय प्रणाली’क्या है?

click here – click

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *